खेल

टीम में अच्छा तालमेल हैं…यूरोप दौरे पर भारतीय जूनियर महिला टीम की कप्तान होंगी ज्योति सिंह

टीम में अच्छा तालमेल हैं…यूरोप दौरे पर भारतीय जूनियर महिला टीम की कप्तान होंगी ज्योति सिंह

फुटबॉल: पीएसवी आइंडहोवन ने अपना 25वां एरेडिविसी खिताब जीता

चीन ने जीता थॉमस और उबेर कप बैटमिंटन टूर्नामेंट का खिताब

नई दिल्ली
 डिफेंडर ज्योति सिंह को 21 से 29 मई तक होने वाले यूरोप दौरे के लिए भारत की 22 सदस्यीय जूनियर महिला हॉकी टीम का कप्तान चुना गया जबकि मिडफील्डर साक्षी राणा उपकप्तान होंगी। भारतीय टीम बेल्जियम, जर्मनी और नीदरलैंड के दो क्लबों ब्रेडेस हॉकी वेरेनिजिंग पुश और आरेंजी रूड से छह मैच खेलेगी।

ज्योति ने हॉकी इंडिया की एक विज्ञप्ति में कहा, टीम में अच्छा तालमेल हैं। हम सभी एक दूसरे को बखूबी जानते हैं। सभी हुनरमंद और प्रतिभाशाली हैं। विदेश में शीर्ष टीमों के खिलाफ खेलना सीखने के लिये बहुत अच्छा होगा। भारतीय टीम 21 मई को ब्रेडेस हॉकी वेरेनिजिंग पुश से पहला मैच खेलेगी और 22 मई को ब्रेडा में ही बेल्जियम से खेलेगी । इसके बाद 24 मई को बेल्जियम में मेजबान से खेलना है। इसके बाद जर्मनी से 26 मई को ब्रेडा और 27 मई को जर्मनी में खेलना है । इसके बाद 29 मई को ब्रेडा में आरेंजी रूड से आखिरी मैच खेलना है।

गोलकीपर : अदिति माहेश्वरी, निधि
डिफेंडर : ज्योति सिंह (कप्तान), लालथांटलुआंगी, अंजलि बारवा, पूजा साहू, ममिता ओरम, निरू कुल्लू मिडफील्डर : के सोनिया देवी, रजनी केरकेटा, प्रियंका यादव, के शिलेइमा चानू, साक्षी राणा, अनिशा साहू, सुप्रिया कुजूर
फॉरवर्ड : बिनिमा धन, हिना बानो, लालरिंपुइ, इशिका, संजना होरो, सोनम, कनिका सिवाच।

 

फुटबॉल: पीएसवी आइंडहोवन ने अपना 25वां एरेडिविसी खिताब जीता

द हेग
पीएसवी आइंडहोवन ने  फिलिप्स स्टेडियम में स्पार्टा रॉटरडैम को 4-2 से हराकर अपना 25वां एरेडिविसी खिताब हासिल किया। इस जीत के साथ ही आइंडहोवन का छह साल से चला आ रहा डच लीग ट्रॉफी जीतने का इंतजार भी खत्म हुआ।

पीएसवी को ट्रॉफी जीतने के लिए केवल एक अंक की आवश्यकता थी, लेकिन टीम मैच के शुरुआत में ही पिछड़ गई और 8वें मिनट में ही मेटिन्हो ने गोल कर रॉटरडैम को बढ़त दिला दी, लेकिन 19वें मिनट में सईद बाकरी के आत्मघाती गोल और 26वें मिनट में जोहान बाकायोको के गोल की बदौलत पीएसवी ने 2-2 की बराबरी हासिल कर ली।

हालांकि, दूसरे हाफ में पीएसवी ने आक्रामक खेल दिखाया और बोस्कागली (67वें मिनट) और जॉर्डन टेज़े (78वें मिनट) के गोलों ने 4-2 से जीत सुनिश्चित कर दी।

इस जीत के साथ, पीएसवी के अब 32 मैचों में 87 अंक हो गए हैं, जबकि अभी दो मैच और खेले जाने हैं। पिछले सीजन के चैंपियन फेयेनोर्ड पहले से ही दूसरे स्थान पर हैं, दोनों टीमों को अगले सीजन के यूईएफए चैंपियंस लीग के लिए सीधे टिकट मिल गए हैं।

कोच पीटर बोस के नेतृत्व में, जिन्होंने पिछले साल रूड वैन निस्टेलरॉय की जगह ली थी, पीएसवी ने शानदार सीजन खेला है, जिसकी शुरुआत 21 जनवरी को एफसी उट्रेच में 1-1 से ड्रॉ से पहले लगातार 17 एरेडिविसी जीत से हुई थी। टीम को पहली और अब तक की एकमात्र हार इस साल 30 मार्च को एनईसी निजमेगेन के खिलाफ मिली थी।

पीएसवी ने अगस्त में फेयेनोर्ड पर जीत के साथ डच सुपर कप भी जीता, और डच दिग्गज चैंपियंस लीग के अंतिम 16 में भी पहुंचे, लेकिन जर्मन टीम बोरुसिया डॉर्टमुंड से हार गए। पीएसवी की एरेडिविसी जीत क्लब के इतिहास में 25वीं जीत है। पहले नंबर पर 36 खिताब के साथ अजाक्स की टीम है।

 

 

चीन ने जीता थॉमस और उबेर कप बैटमिंटन टूर्नामेंट का खिताब

चेंगदू
 चीन की पुरुष टीम ने इंडोनेशिया को 3-1 से हराकर छह साल के इंतजार को खत्म करते हुए थॉमस कप बैटमिंटन टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया है, जबकि महिला टीम ने भी इंडोनेशिया को 3-0 से हराकर 2020 के बाद पहली बार उबेर कप पर कब्जा किया।

2012 के बाद यह पहला मौका था जब पुरुष और महिला दोनों वर्गों के फाइनल में एक ही दो देशों ने एक-दूसरे के खिलाफ खेला।

थॉमस कप में विश्व के दूसरे नंबर के खिलाड़ी शि यूकी ने चीन के लिए शानदार शुरुआत की, उन्होंने इंडोनेशिया के एंथोनी सिनिसुका गिंटिंग के खिलाफ 21-17, 21-6 से जीत दर्ज कर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी।

युगल मुकाबले में लियांग वेइकेंग और वांग चांग ने 64 मिनट तक चले मैच में फजर अल्फियन और मुहम्मद रियान अर्दियांतो को 21-18, 17-21, 21-17 से हराकर स्कोर 2-0 कर दिया, हालांकि जोनाथन क्रिस्टी ने ली शिफेंग को 21-16, 15-21, 21-17 से हराकर इंडोनेशिया को व्हाइटवॉश होने से बचा लिया।

इसके बाद दूसरे युगल में, ही जिटिंग और रेन जियांग्यू ने मुहम्मद शोहिबुल फिकरी और बागास मौलाना पर 21-11, 21-15 से शानदार जीत दर्ज करके चीन को 3-1 से जीत दिलाई और खिताब अपने नाम कर लिया।

चैंपियनशिप पर कब्ज़ा करने के साथ ही, चीन ने इस द्विवार्षिक टूर्नामेंट में अब तक कुल 11 खिताब जीते हैं। इस सूची में इंडोनेशिया 14 खिताबों के साथ शीर्ष पर है।

इससे पहले रविवार की सुबह, चीन की महिला टीम ने इंडोनेशिया को तीन घंटे के भीतर हराकर अपना 16वां उबेर कप खिताब जीता।

ओलंपिक चैंपियन चेन यूफेई ने एकल मुकाबले में ग्रेगोरिया मारिस्का टुनजुंग को 21-7, 21-16 से हराकर बढ़त बनाई।

विश्व की नंबर 1 चेन किंगचेन और जिया यिफान ने युगल मुकाबले में सिती फादिया सिल्वा रामधंती और रिबका सुगियार्तो को 21-11, 21-8 से हराकर चीन को 2-0 से आगे कर दिया।

इसके बाद दूसरे एकल मुकाबले में, इंडोनेशियाई किशोरी एस्टर नूरुमी ट्राई ने पहला सेट 21-10 से जीता, लेकिन ही बिंगजियाओ ने वापसी करते हुए 21-15, 21-17 से जीत दर्ज की और उबेर कप पर कब्जा कर लिया।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button