छत्तीसगढ़

रायपुर : मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने सरपंचों-ग्रामीणों से किया वर्चुअल संवाद…

मुख्यमंत्री ने सरपंच से गांव में चल रहे विकास कार्यों की ली जानकारी

भारत नेट परियोजना के अंतर्गत मोहला-मानपुर-अम्बागढ़ चौकी जिले के 144 गांवों में पहुंचा इंटरनेट  
 
ग्राम पंचायत केकतीटोला, गौलीटोला एवं कुंजामटोला के सरपंचों-ग्रामीणों से वर्चुअल जुड़े मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री विष्णु देव साय आज मोहला-मानपुर-अम्बागढ़ चौकी जिले के दशहरा मैदान मोहला में आयोजित विकसित भारत विकसित छत्तीसगढ़ कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान मुख्यमंत्री साय ने भारत नेट परियोजना के अंतर्गत जिले के दूरस्थ ग्राम पंचायत केकतीटोला, गौलीटोला एवं कुंजामटोला के सरपंचों एवं ग्रामीणों से इंटरनेट के माध्यम से वर्चुअल संवाद किया। उन्होंने सरपंच से गांव में चल रहे विकास कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने ग्राम पंचायत केकतीटोला के सरपंच से छत्तीसगढ़ी में संवाद किया।

    
मुख्यमंत्री साय ने सबसे पहले ग्राम पंचायत केकतीटोला के सरपंच गोविंद नुरेटी से छत्तीसगढ़ी में संवाद किया। उन्होंने सरपंच को जय जोहार कर स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने सरपंच से पूछा सब बने-बने। सरपंच ने उन्हें बताया कि सब बने-बने है। उन्होंने सरपंच से पूछा कि ग्राम पंचायतों में  क्या-क्या सुविधा है। सरपंच ने बताया कि भारत नेट परियोजना के माध्यम से हर प्रकार की ऑनलाईन सुविधा मिल रही है। जन्म, मृत्यु प्रमाण पत्र, मस्टर रोल सहित अन्य ऑनलाईन सुविधाएं ग्राम पंचायत को मिल रही है और अच्छा नेटवर्क रहता है। सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की राशि सभी के एकाउंट में आ जाती है।

मुख्यमंत्री साय ने महतारी वंदन योजना और कृषक उन्नति योजना के अंतर्गत आदान सहायता राशि के मिलने के संबंध में जानकारी ली। सरपंच ने बताया कि सभी के खाते में पैसा आ गया है। सरपंच ने धान उपार्जन मूल्य की अंतर राशि मिलने पर मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने बताया कि भारत नेट के माध्यम से अच्छी सुविधा मिल रही है।

मुख्यमंत्री साय ने सरपंच को ग्राम का अच्छे से विकास करने को कहा। उन्होंने कहा कि सरपंच आगे चलकर विधायक, सांसद, मुख्यमंत्री भी बनते हैं। उन्होंने अपने कार्यकाल की जानकारी देते हुए बताया कि वे पहले 5 वर्ष तक पंच थे, उसके बाद सरपंच, विधायक, सांसद से आज मुख्यमंत्री का पद तक पहुंचे हैं।

सरपंच ने कहा कि यशस्वी मुख्यमंत्री आप ने बहुत मेहनत की है। प्रदेश का मुखिया बनने पर बधाई दी। इसी तरह मुख्यमंत्री साय ने ग्राम पंचायत गौलीटोला के सरपंच नोहर धनजय और ग्राम पंचायत कुंजामटोला के सरपंच राजेन्द्र कुमार कंवर से वर्चुअल माध्यम से संवाद कर ग्रामीण विकास के संबंध में जानकारी ली।

 उल्लेखनीय है कि आकांक्षी जिला अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र को इंटरनेट से जोडऩे के लिए भारत नेट परियोजना के तहत जिले के 144 ग्राम पंचायतों में भारत नेट कनेक्टिविटी शुरू हो गई है। इसके अलावा अन्य ग्राम पंचायतों में इंटरनेट पहुंचाने का कार्य तेजी से चल रहा है। भारत नेट परियोजना ग्राम पंचायतों को ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी से जोड़ा गया है। यह ई-गवर्नेंस, ई-हेल्थकेयर, ई-कॉमर्स, ई-एजुकेशन और पब्लिक इंटरेस्ट एक्सेस सेवाओं को ग्राम पंचायतों तक पहुंचाने के लिए किया गया है। ग्राम पंचायतों को ब्रॉडबैंड इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान करना है। भारतनेट के माध्यम से प्रत्येक ग्राम पंचायत में इंटरनेट सेवाएं प्रदान की जा रही है ताकि प्रत्येक व्यक्ति, विशेष रूप से ग्रामीण भारत के लोग ऑनलाइन सेवाओं तक पहुँच प्राप्त कर सकें।

 इस अवसर पर सांसद संतोष पाण्डेय, विधायक इन्द्रशाह मंडावी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गीता साहू, पूर्व सांसद अभिषेक सिंह, पूर्व सांसद मधुसूदन यादव, पूर्व विधायक संजीव शाह, पूर्व विधायक कोमल जंघेल सहित अनेक जनप्रतिनिधि, बड़ी संख्या में हितग्राही और नागरिक उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button